अन्वेषण थिएटर ,

Sagar Watch

SAGAR WATCH/
अन्वेषण थिएटर ग्रुप की नाट्य प्रस्तुति 'लिव-इन'एक लड़की के साथ लिव-इन में रहने वाले एक युवक- युवती की कहानी है। जो समाज की उस वर्ग की सोच उजागर करती है जिनका मानना है कि हर इंसान की एक व्यक्तिगत जिन्दगी होती है और दूसरों को उसमें दखल नहीं देना चाहिए

लेकिन समाज का एक ऐसा भी वर्ग है जो यह मानता है कि बिना शादी किए एक लड़का और लड़की अगर पति-पत्नी की तरह साथ में रहते हैं तो यह व्यक्तिगत नहीं पारिवारिक और सामाजिक मामला है। हर व्यक्ति की निजता होती है और होनी भी चाहिए लेकिन निजता के नाम पर कुछ भी करना निजता नहीं नग्नता हैं, और किसी भी सभ्य समाज में इसकी अनुमति नहीं होती हैं। 

इस  वैचारिक टकराव पर नाटक का मुख्य किरदार पुत्र अपने पिता से चिल्ला कर पूछता है    कि क्या वह  नंगापन कर रहा है ? वो और एक लड़की साथ में रहते हैं, वो एक-दूसरे को पसंद करते हैं, वो दोनों साथ में रहकर बहुत खुश है तो इसमें परिवार और आपके समाज को क्या परेशानी है ?


ज्ञात हो कि शुक्रवार 13 अक्टूबर 2023 की शाम को रवीन्द्र भवन में अन्वेषण थिएटर ग्रुप द्वारा प्रस्तुत किए गए नाटक 'लिव-इन' में लिव-इन संबंधों के पक्ष और विपक्ष में ऐसे ही अनेकानेक संवादों का प्रस्तुतीकरण देखने को मिल। 

नाटक ने दर्शकों को भी लिव-इन संबंधों के विषय में सोचने समझने और अपनी राय बनाने के लिए विमर्श का एक छोर थमाया। नाटक का लेखन एवं निर्देशन जगदीश शर्मा का था। नाटक में अन्वेषण के अनेक नये व पुराने कलाकारों ने अभिनय कर पात्रों को जीवंत कर दिया। 

मंच पर अभिनय करने वाले कलाकारों के तहत मीना की भूमिका में ज्योति रायकवार, दीपक की भूमिका में समर पाण्डेय, दीपक के पिता बने थे सुमीत दुबे, दीपक की मां की भूमिका निभायी कुलदीप रानी राय ने, मीना की मां का रोल अदा किया आयुषी चौरसिया ने, मीना की छोटी बहिन की भूमिका में ग्राम्या चौबे, चीकू का पात्र बख़ूबी निभाया संदीप दीक्षित ने, पागल पिता के रूप में थे कपिल नाहर, जूते पॉलिश वाले के रूप में नज़र आये दीपक राय, टोनी की भूमिका में देवेन्द्र सूर्यवंशी, मीना के बॉस की भूमिका में अमजद ख़ान और पूजा की भूमिका निभायी सोनाली जैन ने। 
मंच परे की भूमिकाओं में प्रस्तुति प्रबंधक अमजद ख़ान, सह निर्देशक संदीप दीक्षित, सैट राजीव जाट, लाईट पर संदीप बोहरे, गीत रचना आशीष चौबे, संगीत पार्थो घोष, मेकअप कपिल नाहर, कॉस्टयूम ज्योति रायकवार, टिकिट ब्रोशर डिज़ायन तरुणय सिंह, प्रचार-प्रसार डॉ. अतुल श्रीवास्तव, टिकिट वितरण सतीश साहू, ध्वनि प्रभाव संचालन आस्था बानो और प्रस्तुति सहयोग रवीन्द्र दुबे कक्का, मनोज सोनी, अश्वनी साहू, आनंद शर्मा, समता झुड़ेले आदि शामिल रहे। 

नाटक के मंचन से पूर्व सभी कलाकारों सहित निर्देशक जगदीश शर्मा ने मां सरस्वती की पूजा कर आयोजन का विधिवत् शुभारंभ किया। इस आयोजन में सुरेश आचार्य, दिलीप मलैया, लक्ष्मी पांडे, पंकज तिवारी, राजेन्द्र दुबे रमाकांत मिश्रा - सहित सागर नगर के नाट्य-प्रेमी दर्शक बड़ी संख्या में उपस्थित थे।
Share To:

Sagar Watch

Post A Comment:

0 comments so far,add yours